ब्रेकिंग समाचार
कोट्स
सभी इंस्ट्रूमेंट के प्रकार

कृपया अन्य खोज का प्रयास करें

Investing Pro 0
एड-फ्री संस्करण. अपने Investing.com अनुभव को अपग्रेड करें. 40% तक बचाएं अभी अपग्रेड करें

जीएसटी के नए रूल्स से बचने की नई तैयारी, कंपनियां फूड आइटम के 25 किलो से ज्यादा का पैकेट कर रहीं तैयार

शेयर बाजार 07 अक्टूबर 2022 ,19:45
सेव। सेव आइटम्स देखें।
यह लेख पहले से ही आपके सेव आइटम्स में सेव किया जा चुका है
 
© Reuters. जीएसटी के नए रूल्स से बचने की नई तैयारी, कंपनियां फूड आइटम के 25 किलो से ज्यादा का पैकेट कर रहीं तैयार

नोएडा, 7 अक्टूबर (आईएएनएस)। जीएसटी के नए रूल के मुताबिक अब हर पैकेट पर जीएसटी लगेगा। अब चाहे 1 किलो आटा, 1 किलो चावल, 1 किलो दाल, दूध, दही, छाछ आप कुछ भी लें, सभी पर जीएसटी लगेगा और इसका भार आम जनता को उठाना पड़ेगा। इसी के साथ सेंट्रल बोर्ड आफ इनडायरेक्ट टैक्सेस एंड कस्टम्स (सीबीडीटी) ने यह साफ किया है कि प्रीपेड फूड आइटम, जिनका वजन 25 किलो से ज्यादा होगा और एक पैकेट में पैक किए गए होंगे उस पर जीएसटी नहीं देना होगा। 5 फीसद जीएसटी केवल 25 किलो से कम वजन वाले पैकेट फूड आइटम्स पर ही लगेगा। इस बात का फायदा खुदरा ग्राहकों को काफी होगा। यदि कोई खुदरा दुकानदार 25 किलोग्राम के पैकेट को सीधे वितरक या प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी से खरीदता है और खुदरा मात्रा में उसे भेजता है तो ऐसी स्थिति में ग्राहकों को जीएसटी नहीं देना होगा, लेकिन अगर आप 10 किलो का कोई पैकेट बाजार से खरीदते हैं तो उस पर 5 फीसद जीएसटी जोड़कर आपको भुगतान करना पड़ेगा।

खाद्य पदार्थ के सामानों पर जीएसटी लगने से एक तरफ जहां इसका बोझ आम जनता की जेब पर पड़ा है। वहीं दूसरी तरफ सरकारी खाते में काफी जीएसटी कलेक्शन पहुंच रहा है। लेकिन सबसे बड़ी बात है कि इसका अब खुदरा व्यापारियों और मैन्युफैक्च रिंगकंपनियों ने तोड़ निकालना शुरू कर दिया है। 25 किलो से ज्यादा के फूड पैकेट पर जीएसटी ना होने के चलते अब ज्यादातर कंपनियां यह कोशिश कर रही हैं कि वह अपने सामान को एक ही पैकेट में 25 किलो से ज्यादा का वजन रखें ताकि वह जीएसटी की मार से बच सकें।

ग्रेटर नोएडा में किराना स्टोर के मालिक राकेश सिंह ने बताया कि वह कंपनियों से सीधे बड़े-बड़े पैकेट खरीद रहे हैं। जिनमें 25 किलो से ज्यादा का सामान रखा जा रहा है ताकि उस पर जीएसटी ना लगे और उसे खुदरा व्यापार में इस्तेमाल कर सकें।

जीएसटी विभाग के एक बड़े अधिकारी ने यह बताया है कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ इनडायरेक्ट टैक्सेस एंड कस्टम्स (सीबीआईसी) ने यह साफ किया है की प्रीपेड फूड आइटम्स जिनका वजन 25 किलो से ज्यादा और वह एक पैकेट में पैक किए गए हैं। उस पर जीएसटी नहीं देना होगा। 5 फीसद जीएसटी केवल 25 किलो से कम वजन वाले पैक्ड फूड आइटम्स पर ही लगेगा। ब्रांडेड अनाज और दाल बेचने वाली कंपनियां 25 किलो से ज्यादा बड़े पैकेट में फूड आइटम्स को पैक कर किराना स्टोर को बेच सकेंगी। किराना स्टोर से कस्टमर यह सामान खुदरा के रूप में लेंगे और जीएसटी नहीं चुकाएंगे। इसलिए बड़ी-बड़ी कंपनियां 25 किलो से ज्यादा बड़े पैकेट्स को तैयार करने में लग गई हैं और उन्हें खुदरा बाजार में सप्लाई किया जा रहा है।

--आईएएनएस

पीकेटी/एएनएम

जीएसटी के नए रूल्स से बचने की नई तैयारी, कंपनियां फूड आइटम के 25 किलो से ज्यादा का पैकेट कर रहीं तैयार
 

संबंधित लेख

टिप्पणी करें

टिप्पणी दिशा निर्देश

हम आपको यूजर्स के साथ जुड़ने, अपना द्रष्टिकोण बांटन तथा लेखकों तथा एक-दूसरे से प्रश्न पूछने के लिए टिप्पणियों का इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। हालांकि, बातचीत के उच्च स्तर को बनाये रखने के लिए हम सभी मूल्यों तथा उमीदों की अपेक्षा करते हैं, कृपया निम्नलिखित मानदंडों को ध्यान में रखें: 

  • स्तर बढाएं बातचीत का
  • अपने लक्ष्य की ओर सचेत रहे। केवल वही सामग्री पोस्ट करें जो चर्चा किए जा रहे विषय से संबंधित हो।
  • आदर करें। यहाँ तक कि नकारात्मक विचारों को भी सकारात्मक तथा कुशलतापूर्वक पेश किया जा सकता है।
  •  स्टैण्डर्ड लेखन शैली का उपयोग करें। पर्ण विराम तथा बड़े तथा छोटे अक्षरों को शामिल करें।
  • ध्यान दें: टिपण्णी के अंतर्गत स्पैम तथा/या विज्ञापनों के संदेशों को हटा दिया जायेगा।
  • धर्म निंदा, झूठी बातों या व्यक्तिगत हमलों से बचें लेखक या किसी अन्य यूजर की और।
  • बातचीत पर एकाधिकार न रखें।  हम आवेश तथा विशवास की सराहना करते हैं, लेकिन हम सभी को उनके विचारों को प्रकट करने के लिए एक मौका दिए जाने पर भी अटूट विश्वास करते हैं। इसलिए, सामाजिक बातचीत के अलावा, हम टिप्पणीकर्ताओं से उनके विचारों को संक्षेप में तथा विनम्रतापूर्वक रखने की उम्मीद करते हैं, लेकिन बार-बार नहीं जिससे अन्य परेशान या दुखी हो जायें। यदि हमें किसी व्यक्ति विशेष के बारे में शिकायत प्राप्त होती है जो किसी थ्रेड या फोरम पर एकाधिकार रखे, हम बिना किसी पूर्व सूचना के उन्हें साईट से बैन करने का अधिकार रखते हैं।
  • केवल अंग्रेजी टिप्पणियों की अनुमति है।

स्पैम तथा शोषण के अपराधियों को हटा दिया जायेगा तथा भविष्य में उन्हें Investing.com पर प्रतिबंधित कर दिया जायेगा।

अपने विचार यहाँ लिखें
 
क्या आप सच में इस चार्ट को डिलीट करना चाहते हैं?
 
पोस्ट
इसको भी पोस्ट करें:
 
सभी सलंग्न चार्ट को नए चार्ट से बदलें?
1000
नकारात्मक यूजर रिपोर्ट के कारण टिप्पणी करने की आपकी क्षमता को निलंबित कर दिया गया है। आपके स्टेटस की हमारे मोडेटरों द्वारा समीक्षा की जाएगी।
कृपया दोबारा टिप्पणी करने से पहले एक मिनट प्रतीक्षा करें।
आपकी टिपण्णी के लिए धन्यवाद। कृपया ध्यान दें सभी टिप्पणियाँ लंबित हैं जब तक उन्हें हमारे मॉडरेटर्स द्वारा नहीं जांचा जाता। हो सकता है इसलिए हमारी वेबसाईट पर दिखाए जाने से पूर्व यह थोडा समय लें।
 
क्या आप सच में इस चार्ट को डिलीट करना चाहते हैं?
 
पोस्ट
 
सभी सलंग्न चार्ट को नए चार्ट से बदलें?
1000
नकारात्मक यूजर रिपोर्ट के कारण टिप्पणी करने की आपकी क्षमता को निलंबित कर दिया गया है। आपके स्टेटस की हमारे मोडेटरों द्वारा समीक्षा की जाएगी।
कृपया दोबारा टिप्पणी करने से पहले एक मिनट प्रतीक्षा करें।
टिप्पणी में चार्ट जोड़ें
ब्लॉक की पुष्टी करें

क्या आप सच में %USER_NAME% को ब्लॉक करना चाहते हैं?

ऐसा करके, आप और %USER_NAME% नहीं देख पाएंगे किसी अन्य के Investing.com की पोस्ट में से कोई भी।

%USER_NAME% को सफलतापूर्वक आपकी ब्लॉक सूची में जोड़ लिया गया है

क्योंकि आपने इस व्यक्ति को अनब्लॉक कर दिया है, आपको ब्लॉक को रिन्यू करने से पहले 48 घंटे प्रतीक्षा करनी होगी।

इस टिपण्णी को दर्ज करें

मुझे लगता है कि यह टिपण्णी:

टिप्पणी ध्वजांकित

धन्यवाद!

आपकी रिपोर्ट समीक्षा के लिए हमारे मॉडरेटर को भेजी गई है
गूगल के साथ जारी रखें
या
ईमेल के साथ साइन अप करें