40% की छूट पाएं
🔥 हमारी एआई-चयनित स्टॉक स्ट्रेटेजी, टेक टाइटन्स, मई में अब तक +7.1% ऊपर है। स्टॉक्स में तेज़ी होने पर लाभ उठाएं।40% की छूट क्लेम करें

जेयू मामले की यूजीसी का एंटी रैगिंग सेल करेगा जांच

प्रकाशित 14/08/2023, 12:20 am
जेयू मामले की यूजीसी का एंटी रैगिंग सेल करेगा जांच
SAIL
-

कोलकाता, 13 अगस्त (आईएएनएस)। विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की एंटी-रैगिंग सेल (NS:SAIL) की एक टीम जादवपुर विश्वविद्यालय (जेयू) के प्रथम वर्ष के छात्र स्वप्नदीप कुंडू की मौत की जांच के लिए अगले सप्ताह यहां आएगी। कुंडू की गुरुवार को विश्‍वविद्यालय परिसर में रहस्यमय परिस्थितियों में मौत हो गई थी।प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय के परिसर में कथित तौर पर अमानवीय रैगिंग का शिकार बने बंगाली ऑनर्स के प्रथम वर्ष के छात्र स्वप्नदीप की छात्रावास की बालकनी से गिरकर मौत हो गई थी। मामले में अब तक विश्वविद्यालय के एक पूर्व और दो वर्तमान छात्रों को गिरफ्तार किया गया है।

यूजीसी को परिसर में छात्रों के छात्रावासों में पूरी तरह से कुप्रबंधन की विभिन्न हलकों से कई शिकायतें मिली हैं, जहां नए छात्रों को समायोजित करने के मामले में पूर्व छात्रों का फैसला ही अंतिम होता है।

यह भी सवाल उठ रहे हैं कि यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र पास आउट होने के कई साल बाद भी हॉस्टल में कैसे रह सकते हैं।

यूजीसी ने जेयू अधिकारियों से दुर्घटना पर एक प्रारंभिक रिपोर्ट भी मांगी है, जिसे सोमवार तक जमा करना है। रिपोर्ट मिलने के बाद यूजीसी अपने एंटी-रैगिंग सेल के सदस्यों को मामले की जमीनी जांच के लिए भेजेगा।

आयोग टीम को छात्रावास समितियों के सदस्यों, मृतक के छात्रावास के साथियों और जांच अधिकारियों से बात करनी है।

इस बीच, पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सी.वी. आनंद बोस, जो सभी राज्य विश्वविद्यालयों के पदेन कुलाधिपति भी हैं, ने सभी विश्वविद्यालयों के प्रतिनिधियों के साथ एक राज्य स्तरीय एंटी-रैगिंग सेल स्थापित करने का निर्णय लिया है।

तृतीय पक्ष विज्ञापन। Investing.com द्वारा कोई प्रस्ताव या अनुशंसा नहीं। यहां प्रकटीकरण देखें या विज्ञापन हटा दें

--आईएएनएस

एकेजे

नवीनतम टिप्पणियाँ

हमारा ऐप इंस्टॉल करें
जोखिम प्रकटीकरण: वित्तीय उपकरण एवं/या क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग में आपके निवेश की राशि के कुछ, या सभी को खोने का जोखिम शामिल है, और सभी निवेशकों के लिए उपयुक्त नहीं हो सकता है। क्रिप्टो करेंसी की कीमत काफी अस्थिर होती है एवं वित्तीय, नियामक या राजनैतिक घटनाओं जैसे बाहरी कारकों से प्रभावित हो सकती है। मार्जिन पर ट्रेडिंग से वित्तीय जोखिम में वृद्धि होती है।
वित्तीय उपकरण या क्रिप्टो करेंसी में ट्रेड करने का निर्णय लेने से पहले आपको वित्तीय बाज़ारों में ट्रेडिंग से जुड़े जोखिमों एवं खर्चों की पूरी जानकारी होनी चाहिए, आपको अपने निवेश लक्ष्यों, अनुभव के स्तर एवं जोखिम के परिमाण पर सावधानी से विचार करना चाहिए, एवं जहां आवश्यकता हो वहाँ पेशेवर सलाह लेनी चाहिए।
फ्यूज़न मीडिया आपको याद दिलाना चाहता है कि इस वेबसाइट में मौजूद डेटा पूर्ण रूप से रियल टाइम एवं सटीक नहीं है। वेबसाइट पर मौजूद डेटा और मूल्य पूर्ण रूप से किसी बाज़ार या एक्सचेंज द्वारा नहीं दिए गए हैं, बल्कि बाज़ार निर्माताओं द्वारा भी दिए गए हो सकते हैं, एवं अतः कीमतों का सटीक ना होना एवं किसी भी बाज़ार में असल कीमत से भिन्न होने का अर्थ है कि कीमतें परिचायक हैं एवं ट्रेडिंग उद्देश्यों के लिए उपयुक्त नहीं है। फ्यूज़न मीडिया एवं इस वेबसाइट में दिए गए डेटा का कोई भी प्रदाता आपकी ट्रेडिंग के फलस्वरूप हुए नुकसान या हानि, अथवा इस वेबसाइट में दी गयी जानकारी पर आपके विश्वास के लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं होगा।
फ्यूज़न मीडिया एवं/या डेटा प्रदाता की स्पष्ट पूर्व लिखित अनुमति के बिना इस वेबसाइट में मौजूद डेटा का प्रयोग, संचय, पुनरुत्पादन, प्रदर्शन, संशोधन, प्रेषण या वितरण करना निषिद्ध है। सभी बौद्धिक संपत्ति अधिकार प्रदाताओं एवं/या इस वेबसाइट में मौजूद डेटा प्रदान करने वाले एक्सचेंज द्वारा आरक्षित हैं।
फ्यूज़न मीडिया को विज्ञापनों या विज्ञापनदाताओं के साथ हुई आपकी बातचीत के आधार पर वेबसाइट पर आने वाले विज्ञापनों के लिए मुआवज़ा दिया जा सकता है।
इस समझौते का अंग्रेजी संस्करण मुख्य संस्करण है, जो अंग्रेजी संस्करण और हिंदी संस्करण के बीच विसंगति होने पर प्रभावी होता है।
© 2007-2024 - फ्यूजन मीडिया लिमिटेड सर्वाधिकार सुरक्षित