ब्रेकिंग समाचार
कोट्स
सभी इंस्ट्रूमेंट के प्रकार

कृपया अन्य खोज का प्रयास करें

0
एड-फ्री संस्करण. अपने Investing.com अनुभव को अपग्रेड करें. 40% तक बचाएं अभी अपग्रेड करें

भारत का पहला छोटा रॉकेट मिशन हुआ फेल

शेयर बाजार 07 अगस्त 2022 ,18:15
सेव। सेव आइटम्स देखें।
यह लेख पहले से ही आपके सेव आइटम्स में सेव किया जा चुका है
 
भारत का पहला छोटा रॉकेट मिशन हुआ फेल
 
DX
-0.04%
पोर्टफोलियो में जोड़ेंं/इससे हटाएँ
वॉचलिस्ट में जोड़ें
स्थिति जोड़ें

में स्थिति को सफलतापूर्वक जोड़ा गया:

कृपया अपने होल्डिंग्स पोर्टफोलियो का नाम रखें
 

श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश), 7 अगस्त (आईएएनएस)। भारत के छोटे उपग्रह प्रक्षेपण यान (एसएसएलवी) का पहला मिशन रविवार की सुबह विफल हो गया। इस एसएसएलवी पर कुल 56 करोड़ रुपये खर्च हुए थे।दो उपग्रहों को उनकी इच्छित कक्षा में स्थापित करने में एक छोटे रॉकेट की विफलता भारत के मानव अंतरिक्ष मिशन की सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित करती है जिसे जियोसिंक्रोनस सैटेलाइट लॉन्च व्हीकल-एमके 3 (जीएसएलवी-एमके 3 ) द्वारा ट्रिकी क्रायोजेनिक इंजन चरण के साथ किया जाएगा।

एसएसएलवी-डी1 के दो उपग्रहों के साथ सुबह करीब 9.18 बजे प्रक्षेपित किए जाने के कुछ घंटों बाद, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने कहा कि उपग्रह अनुपयोगी हैं क्योंकि यह निर्धारित कक्षा से अलग कक्षा में चला गया।

इसरो ने मिशन के बारे में एक बहुत ही संक्षिप्त बयान में कहा, सभी चरणों ने सामान्य रूप से प्रदर्शन किया। दोनों उपग्रहों को अंत:क्षेपित किया गया। लेकिन हासिल की गई कक्षा अपेक्षा से कम थी, जो इसे अस्थिर बनाती है।

इसरो के अध्यक्ष एस. सोमनाथ ने कहा, एसएसएलवी-डी1 ने उपग्रहों को 356 किमी वृत्ताकार कक्षा के बजाय 356 किमी गुणा 76 किमी अण्डाकार कक्षा में स्थापित किया - 76 किमी पृथ्वी की सतह के करीब सबसे निचला बिंदु है।

उन्होंने कहा कि जब उपग्रहों को इस तरह की कक्षा में स्थापित किया जाएगा तो वे वहां ज्यादा समय तक नहीं रहेंगे और नीचे आ जाएंगे।

सोमनाथ ने कहा, दो उपग्रह पहले ही उस कक्षा से नीचे आ चुके हैं और वे अब प्रयोग करने योग्य नहीं हैं।

विशेषज्ञों का एक समूह इस विफलता की जांच करेगा कि यह अस्वीकार्य कक्षा में क्यों गया। सोमनाथ ने कहा कि छोटे सुधारों के पुन: सत्यापन के बाद, इसरो जल्द ही अगला एसएसएलवी-डी 2 लॉन्च करेगा।

देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ को मनाने की उम्मीद में इसरो ने अपने नए बनाए गए रॉकेट लघु उपग्रह प्रक्षेपण यान - विकासात्मक उड़ान (एसएसएलवी-डी1) का प्रक्षेपण किया था।

अपनी पहली विकासात्मक उड़ान पर, एसएसएलवी-डी1 ने एक पृथ्वी अवलोकन उपग्रह-02 (ईओएस-02) का वजन लगभग 145 किलोग्राम और सरकारी स्कूलों के 750 छात्रों द्वारा निर्मित आठ किलोग्राम आजादीसैट था, जिसे स्पेसकिड्ज द्वारा सुगम बनाया गया था। इसे पहले माइक्रोसेटेलाइट -2 के रूप में जाना जाता था।

रॉकेट की उड़ान के लगभग 12 मिनट बाद, इसरो ने ईओएस-02 और आजादीसैट को अलग करने की घोषणा की।

इसके तुरंत बाद रॉकेट पोर्ट पर उस मिशन कंट्रोल सेंटर के बारे में सोमनाथ की घोषणा के साथ एक भारी सन्नाटा छा गया: एसएसएलवी-डी 1 मिशन पूरा हो गया था। रॉकेट के सभी चरणों ने उम्मीद के मुताबिक प्रदर्शन किया। रॉकेट के टर्मिनल चरण में कुछ डेटा हानि हुई है।

उन्होंने कहा कि मिशन की स्थिति जानने के लिए आंकड़े जुटाए जा रहे हैं।

स्पेसकिड्ज इंडिया के संस्थापक और सीईओ डॉ. श्रीमति केसन ने आईएएनएस को बताया, आजादीसैट अलग हो गया। हम रात में ही उपग्रह के बारे में जान सकते हैं।

सुबह करीब 9.18 बजे रॉकेट यहां के पहले लॉन्च पैड से मुक्त होकर आसमान में बादलों के बीच चला गया। रॉकेट की प्रगति सुचारू थी क्योंकि इसके सभी ठोस ईंधन चालित इंजन अच्छा प्रदर्शन कर रहे थे।

तीन चरणों वाला एसएसएलवी-डी1 मुख्य रूप से ठोस ईंधन (कुल 99.2 टन) द्वारा संचालित है और इसमें उपग्रहों के सटीक इंजेक्शन के लिए 0.05 टन तरल ईंधन द्वारा संचालित वेग ट्रिमिंग मॉड्यूल (वीटीएम) भी है।

भारत का सबसे नया रॉकेट 34 मीटर लंबा और 120 टन वजन का था।

उड़ान योजना के अनुसार, अपनी उड़ान में सिर्फ 12 मिनट में, एसएसएलवी को कुछ सेकंड बाद ईओएस-2 उपग्रह और फिर आजादीसैट को अंतरिक्ष में पहुंचाना था। हालांकि, यह योजना के अनुसार नहीं हुआ।

इसरो के अनुसार, एसएसएलवी उद्योग द्वारा उत्पादन के लिए मानक इंटरफेस के साथ मॉड्यूलर और एकीकृत प्रणालियों के साथ रॉकेट को स्थानांतरित करने के लिए तैयार है।

इसरो ने कहा कि एसएसएलवी डिजाइन ड्राइवर कम लागत, कम टर्नअराउंड समय, कई उपग्रहों को समायोजित करने में लचीलेपन, लॉन्च-ऑन-डिमांड व्यवहार्यता, न्यूनतम लॉन्च इंफ्रास्ट्रक्च र आवश्यकताएं और अन्य के साथ परिपूर्ण हैं।

इसरो की वाणिज्यिक शाखा, न्यूस्पेस इंडिया लिमिटेड, कुछ सफल मिशनों के बाद निजी क्षेत्र में उत्पादन के लिए एसएसएलवी तकनीक को स्थानांतरित करने की योजना बना रही थी।

भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि ईओएस-02 उपग्रह उच्च स्थानिक संकल्प के साथ एक प्रयोगात्मक ऑप्टिकल इमेजिंग उपग्रह है। इसका उद्देश्य कम टर्नअराउंड समय के साथ एक प्रायोगिक इमेजिंग उपग्रह को साकार करना और उड़ान भरना है और मांग क्षमता पर प्रक्षेपण का प्रदर्शन करना है।

नीति आयोग के सदस्य वी के सारस्वत ने एक स्पेस सेमिनार में कहा था कि 2018 और 2027 के बीच कुल 38 अरब डॉलर के लगभग 7,000 छोटे उपग्रहों को लॉन्च किए जाने की उम्मीद है।

--आईएएनएस

आरएचए/एसकेपी

भारत का पहला छोटा रॉकेट मिशन हुआ फेल
 

संबंधित लेख

दिल्ली के पेट्रोल पंपों पर 25 अक्टूबर से बिना पीयूसी सर्टिफिकेट के नहीं मिलेगा फ्यूल
दिल्ली के पेट्रोल पंपों पर 25 अक्टूबर से बिना पीयूसी सर्टिफिकेट के नहीं मिलेगा फ्यूल द्वारा IANS - 01 अक्टूबर 2022

नई दिल्ली, 1 अक्टूबर (आईएएनएस)। आप सरकार ने शनिवार को कहा कि 25 अक्टूबर से प्रदूषण नियंत्रण (पीयूसी) प्रमाण पत्र के बिना राष्ट्रीय राजधानी में पेट्रोल पंपों पर ईंधन भरवाना संभव...

दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी
दिसंबर 2023 तक हर भारतीय के लिए 5जी लाएगी जियो : मुकेश अंबानी द्वारा IANS - 01 अक्टूबर 2022

नई दिल्ली, 1 अक्टूबर (आईएएनएस)। रिलायंस इंडस्ट्रीज (NS:RELI) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने शनिवार को घोषणा की है कि जियो दिसंबर 2023 तक सभी भारतीयों के लिए 5जी...

यूपी रोडवेज की बसों में अब कीजिए कैशलेस यात्रा
यूपी रोडवेज की बसों में अब कीजिए कैशलेस यात्रा द्वारा IANS - 01 अक्टूबर 2022

लखनऊ, 1 अक्टूबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश रोडवेज की बसों में जल्द ही कैशलेस टिकट मिलने लगेगा। स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉपर्ोेशन ने ई टिकटिंग की व्यवस्था को पूरे प्रदेश में जल्द लागू...

टिप्पणी करें

टिप्पणी दिशा निर्देश

हम आपको यूजर्स के साथ जुड़ने, अपना द्रष्टिकोण बांटन तथा लेखकों तथा एक-दूसरे से प्रश्न पूछने के लिए टिप्पणियों का इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। हालांकि, बातचीत के उच्च स्तर को बनाये रखने के लिए हम सभी मूल्यों तथा उमीदों की अपेक्षा करते हैं, कृपया निम्नलिखित मानदंडों को ध्यान में रखें: 

  • स्तर बढाएं बातचीत का
  • अपने लक्ष्य की ओर सचेत रहे। केवल वही सामग्री पोस्ट करें जो चर्चा किए जा रहे विषय से संबंधित हो।
  • आदर करें। यहाँ तक कि नकारात्मक विचारों को भी सकारात्मक तथा कुशलतापूर्वक पेश किया जा सकता है।
  •  स्टैण्डर्ड लेखन शैली का उपयोग करें। पर्ण विराम तथा बड़े तथा छोटे अक्षरों को शामिल करें।
  • ध्यान दें: टिपण्णी के अंतर्गत स्पैम तथा/या विज्ञापनों के संदेशों को हटा दिया जायेगा।
  • धर्म निंदा, झूठी बातों या व्यक्तिगत हमलों से बचें लेखक या किसी अन्य यूजर की और।
  • बातचीत पर एकाधिकार न रखें।  हम आवेश तथा विशवास की सराहना करते हैं, लेकिन हम सभी को उनके विचारों को प्रकट करने के लिए एक मौका दिए जाने पर भी अटूट विश्वास करते हैं। इसलिए, सामाजिक बातचीत के अलावा, हम टिप्पणीकर्ताओं से उनके विचारों को संक्षेप में तथा विनम्रतापूर्वक रखने की उम्मीद करते हैं, लेकिन बार-बार नहीं जिससे अन्य परेशान या दुखी हो जायें। यदि हमें किसी व्यक्ति विशेष के बारे में शिकायत प्राप्त होती है जो किसी थ्रेड या फोरम पर एकाधिकार रखे, हम बिना किसी पूर्व सूचना के उन्हें साईट से बैन करने का अधिकार रखते हैं।
  • केवल अंग्रेजी टिप्पणियों की अनुमति है।

स्पैम तथा शोषण के अपराधियों को हटा दिया जायेगा तथा भविष्य में उन्हें Investing.com पर प्रतिबंधित कर दिया जायेगा।

अपने विचार यहाँ लिखें
 
क्या आप सच में इस चार्ट को डिलीट करना चाहते हैं?
 
पोस्ट
इसको भी पोस्ट करें:
 
सभी सलंग्न चार्ट को नए चार्ट से बदलें?
1000
नकारात्मक यूजर रिपोर्ट के कारण टिप्पणी करने की आपकी क्षमता को निलंबित कर दिया गया है। आपके स्टेटस की हमारे मोडेटरों द्वारा समीक्षा की जाएगी।
कृपया दोबारा टिप्पणी करने से पहले एक मिनट प्रतीक्षा करें।
आपकी टिपण्णी के लिए धन्यवाद। कृपया ध्यान दें सभी टिप्पणियाँ लंबित हैं जब तक उन्हें हमारे मॉडरेटर्स द्वारा नहीं जांचा जाता। हो सकता है इसलिए हमारी वेबसाईट पर दिखाए जाने से पूर्व यह थोडा समय लें।
 
क्या आप सच में इस चार्ट को डिलीट करना चाहते हैं?
 
पोस्ट
 
सभी सलंग्न चार्ट को नए चार्ट से बदलें?
1000
नकारात्मक यूजर रिपोर्ट के कारण टिप्पणी करने की आपकी क्षमता को निलंबित कर दिया गया है। आपके स्टेटस की हमारे मोडेटरों द्वारा समीक्षा की जाएगी।
कृपया दोबारा टिप्पणी करने से पहले एक मिनट प्रतीक्षा करें।
टिप्पणी में चार्ट जोड़ें
ब्लॉक की पुष्टी करें

क्या आप सच में %USER_NAME% को ब्लॉक करना चाहते हैं?

ऐसा करके, आप और %USER_NAME% नहीं देख पाएंगे किसी अन्य के Investing.com की पोस्ट में से कोई भी।

%USER_NAME% को सफलतापूर्वक आपकी ब्लॉक सूची में जोड़ लिया गया है

क्योंकि आपने इस व्यक्ति को अनब्लॉक कर दिया है, आपको ब्लॉक को रिन्यू करने से पहले 48 घंटे प्रतीक्षा करनी होगी।

इस टिपण्णी को दर्ज करें

मुझे लगता है कि यह टिपण्णी:

टिप्पणी ध्वजांकित

धन्यवाद!

आपकी रिपोर्ट समीक्षा के लिए हमारे मॉडरेटर को भेजी गई है
गूगल के साथ जारी रखें
या
ईमेल के साथ साइन अप करें