😎 समर सेल विशेष - InvestingPro द्वारा एआई-संचालित स्टॉक चयन पर 50% तक की छूटसेल को क्लेम करें

भारत का MSCI इंडेक्स वेट रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया, जिससे चीन का अंतर कम हुआ

संपादकNatashya Angelica
प्रकाशित 13/02/2024, 03:32 pm
BHEL
-
CNBK
-
CUMM
-
GMRI
-
MRF
-
NMDC
-
PERS
-
PNBK
-
SUZL
-
TAMO
-
UNBK
-
MSCIEF
-
MIWD00000PUS
-
MIAP00000PUS
-
MIEU00000PUS
-
MIWO00000PUS
-
MIEF00000PUS
-
MACE
-

उभरते बाजार इक्विटी के लिए एक महत्वपूर्ण विकास में, भारत ने MSCI के ग्लोबल स्टैंडर्ड इंडेक्स में अपनी उपस्थिति बढ़ा दी है, जिसका वेटेज नवीनतम संशोधन के बाद रिकॉर्ड 18.2% तक पहुंच गया है। मंगलवार को घोषित यह वृद्धि सूचकांक के भीतर भारत और चीन के बीच एक संकीर्ण अंतर का संकेत देती है, जो वैश्विक निवेशकों के लिए एक प्रमुख बेंचमार्क है।

सूचकांक में चीन का वजन वर्तमान में 25.4% है, जो एक साल पहले दर्ज 26.6% से कम है। यह बदलाव अगस्त 2020 से काफी बदलाव का प्रतीक है, जब चीन का भार भारत के मुकाबले पांच गुना था।

विश्लेषकों के अनुमान के अनुसार, भारत के पक्ष में समायोजन से लगभग 1.2 बिलियन डॉलर का निवेश होने की उम्मीद है। नुवामा अल्टरनेटिव एंड क्वांटिटेटिव रिसर्च के एक नोट के अनुसार, यह परिवर्तन भारतीय इक्विटी के मजबूत प्रदर्शन और अन्य उभरते बाजारों, विशेष रूप से चीन के सापेक्ष खराब प्रदर्शन को दर्शाता है।

MSCI द्वारा किए गए संशोधन 29 फरवरी को बाजार बंद होने के बाद प्रभावी होंगे। इस समीक्षा से पहले, भारतीय शेयरों का सूचकांक पर 17.9% भार था। नुवामा का अनुमान है कि अगर घरेलू संस्थागत निवेश और विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों की भागीदारी का मौजूदा रुझान जारी रहता है, तो 2024 की शुरुआत तक MSCI सूचकांक पर भारत का भार 20% से अधिक हो सकता है।

नवीनतम सूचकांक संशोधन में, MSCI ने देश के प्रतिनिधित्व को बढ़ाते हुए पांच नए भारतीय स्टॉक शामिल किए। पंजाब नेशनल बैंक (NS:PNBK) और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया को लार्ज-कैप श्रेणी में जोड़ा गया, जबकि भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स और एनएमडीसी को मिड-कैप श्रेणी में स्पॉट मिले। GMR एयरपोर्ट्स इंफ्रास्ट्रक्चर स्मॉल-कैप से मिड-कैप श्रेणी में आगे बढ़ा।

इसके विपरीत, सूचकांक प्रदाता ने 66 चीनी शेयरों को हटा दिया, जबकि पांच को भी जोड़ा। पुनर्संतुलन दो एशियाई दिग्गजों के बीच निवेशकों की भावना और बाजार की गतिशीलता में बदलाव को दर्शाता है।

इसके अतिरिक्त, MSCI डोमेस्टिक इंडेक्स में 27 स्मॉल-कैप भारतीय शेयरों की शुरुआत हुई, जिसमें छह अन्य को पुनर्वर्गीकृत या हटाया गया। टाटा मोटर्स (NS:TAMO) (NYSE:TTM) और मैक्रोटेक डेवलपर्स लार्ज-कैप श्रेणी में शामिल हो गए, जबकि पंजाब नेशनल बैंक, कैनरा बैंक और एम्बेसी ऑफिस पार्क REIT को मिड-कैप में शामिल किया गया। भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स, पर्सिस्टेंट सिस्टम्स, MRF, सुजलॉन एनर्जी और कमिंस (NYSE:CMI) जैसी अन्य कंपनियां स्मॉल-कैप श्रेणी से मिडकैप इंडेक्स में चली गईं।

MSCI सूचकांक का पुन: अंशांकन उभरते बाजार क्षेत्र में भारत के बढ़ते प्रभाव को दर्शाता है और इससे विदेशी निवेश में वृद्धि हो सकती है क्योंकि देश के बाजार पूंजीकरण का विस्तार जारी है।

रॉयटर्स ने इस लेख में योगदान दिया।

यह लेख AI के समर्थन से तैयार और अनुवादित किया गया था और एक संपादक द्वारा इसकी समीक्षा की गई थी। अधिक जानकारी के लिए हमारे नियम एवं शर्तें देखें।

नवीनतम टिप्पणियाँ

हमारा ऐप इंस्टॉल करें
जोखिम प्रकटीकरण: वित्तीय उपकरण एवं/या क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग में आपके निवेश की राशि के कुछ, या सभी को खोने का जोखिम शामिल है, और सभी निवेशकों के लिए उपयुक्त नहीं हो सकता है। क्रिप्टो करेंसी की कीमत काफी अस्थिर होती है एवं वित्तीय, नियामक या राजनैतिक घटनाओं जैसे बाहरी कारकों से प्रभावित हो सकती है। मार्जिन पर ट्रेडिंग से वित्तीय जोखिम में वृद्धि होती है।
वित्तीय उपकरण या क्रिप्टो करेंसी में ट्रेड करने का निर्णय लेने से पहले आपको वित्तीय बाज़ारों में ट्रेडिंग से जुड़े जोखिमों एवं खर्चों की पूरी जानकारी होनी चाहिए, आपको अपने निवेश लक्ष्यों, अनुभव के स्तर एवं जोखिम के परिमाण पर सावधानी से विचार करना चाहिए, एवं जहां आवश्यकता हो वहाँ पेशेवर सलाह लेनी चाहिए।
फ्यूज़न मीडिया आपको याद दिलाना चाहता है कि इस वेबसाइट में मौजूद डेटा पूर्ण रूप से रियल टाइम एवं सटीक नहीं है। वेबसाइट पर मौजूद डेटा और मूल्य पूर्ण रूप से किसी बाज़ार या एक्सचेंज द्वारा नहीं दिए गए हैं, बल्कि बाज़ार निर्माताओं द्वारा भी दिए गए हो सकते हैं, एवं अतः कीमतों का सटीक ना होना एवं किसी भी बाज़ार में असल कीमत से भिन्न होने का अर्थ है कि कीमतें परिचायक हैं एवं ट्रेडिंग उद्देश्यों के लिए उपयुक्त नहीं है। फ्यूज़न मीडिया एवं इस वेबसाइट में दिए गए डेटा का कोई भी प्रदाता आपकी ट्रेडिंग के फलस्वरूप हुए नुकसान या हानि, अथवा इस वेबसाइट में दी गयी जानकारी पर आपके विश्वास के लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं होगा।
फ्यूज़न मीडिया एवं/या डेटा प्रदाता की स्पष्ट पूर्व लिखित अनुमति के बिना इस वेबसाइट में मौजूद डेटा का प्रयोग, संचय, पुनरुत्पादन, प्रदर्शन, संशोधन, प्रेषण या वितरण करना निषिद्ध है। सभी बौद्धिक संपत्ति अधिकार प्रदाताओं एवं/या इस वेबसाइट में मौजूद डेटा प्रदान करने वाले एक्सचेंज द्वारा आरक्षित हैं।
फ्यूज़न मीडिया को विज्ञापनों या विज्ञापनदाताओं के साथ हुई आपकी बातचीत के आधार पर वेबसाइट पर आने वाले विज्ञापनों के लिए मुआवज़ा दिया जा सकता है।
इस समझौते का अंग्रेजी संस्करण मुख्य संस्करण है, जो अंग्रेजी संस्करण और हिंदी संस्करण के बीच विसंगति होने पर प्रभावी होता है।
© 2007-2024 - फ्यूजन मीडिया लिमिटेड सर्वाधिकार सुरक्षित