40% की छूट पाएं
नया! 💥 प्राप्त करें प्रोपिक्स जो रणनीति देखने के लिए जिसने S&P 500 को 1,183%+ से हराया है40% की छूट क्लेम करें

प्रत्येक तिमाही अपने स्टॉक से गेहूं की बिक्री शुरू करने का सरकार का निर्णय

प्रकाशित 04/05/2023, 12:11 pm
अपडेटेड 09/07/2023, 04:02 pm

नई दिल्ली (आई-ग्रेन इंडिया)। केन्द्र सरकार ने घरेलू प्रभाग में गेहूं, आटा एवं अन्य गेहूं उत्पादों की कीमतों में होने वाली किसी भी बढ़ोत्तरी को नियंत्रित करने के उद्देश्य से खुले बाजार में अपने स्टॉक से प्रत्येक तिमाही के दौरान गेहूं की बिक्री आरंभ करने का निर्णय लिया है।

इसकी शुरुआत जुलाई 2023 से होने की संभावना है। फिलहाल भारतीय खाद्य निगम द्वारा वर्ष की अंतिम तिमाही यानी जनवरी-मार्च के दौरान ही अपने स्टॉक से थोड़ी मात्रा में गेहूं की बिक्री की गई थी क्योंकि उस समय घरेलू बाजार में इसकी आपूर्ति एवं उपलब्धता काफी घटने से कीमत उछलकर नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई थी। केन्द्रीय पूल में स्टॉक कम होने के बावजूद सरकार को बाजार में गेहूं उतारना पड़ा था।

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार निकट भविष्य में गेहूं के निर्यात पर लगे प्रतिबंध को वापस लिए जाने की संभावना नहीं है। दूसरी और खुले बाजार बिक्री योजना (ओएमएसएस) के तहत गेहूं की पहली खेप की बिक्री का आफर जुलाई से पूर्व दिया जा सकता है।

आमतौर पर जून के अंत तक गेहूं की सरकारी खरीद समाप्त हो जाती है और उसके बाद किसानों के पास ऐसा स्टॉक बच जाता है जिसे वे सरकारी एजेंसियों को नहीं बेचना चाहते हैं। यदि प्रत्येक तिमाही के दौरान सरकारी गेहूं का स्टॉक खुले बाजार में उतरता रहा तो इसकी आपूर्ति-उपलब्धता की स्थिति बेहतर बनी रहेगी और कीमतों में भारी तेजी की संभावना क्षीण पड़ जाएगी। लेकिन इसके लिए केन्द्रीय पूल में गेहूं का पर्याप्त स्टॉक उपलब्ध होना आवश्यक है।

समझा जाता है कि चालू वर्ष के दौरान कुछ महत्वपूर्ण राज्यों में विधानसभा का तथा अगले वर्ष लोकसभा का चुनाव होने वाला है इसलिए सरकार गेहूं तथा इसके मूल्य संवर्धित उत्पादों की कीमतों पर अंकुश लगाने का हर संभव प्रयास करेगी।

पिछले साल गेहूं के दाम में रिकॉर्ड तोड़ इजाफा होने से आम उपभोक्ताओं को भारी कठिनाई हुई थी। सरकारी आंकलन के अनुसार इस बार व्यापारियों- स्टाकिस्टों द्वारा किसानों से भारी मात्रा में गेहूं की खरीद करके उसका स्टॉक रखा गया है। वे मई के बाद ऊंचे दाम पर इसकी बिक्री का प्रयास कर सकते हैं क्योंकि तब मंडियों में किसानी माल की आपूर्ति काफी घट जाएगी।

नवीनतम टिप्पणियाँ

हमारा ऐप इंस्टॉल करें
जोखिम प्रकटीकरण: वित्तीय उपकरण एवं/या क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग में आपके निवेश की राशि के कुछ, या सभी को खोने का जोखिम शामिल है, और सभी निवेशकों के लिए उपयुक्त नहीं हो सकता है। क्रिप्टो करेंसी की कीमत काफी अस्थिर होती है एवं वित्तीय, नियामक या राजनैतिक घटनाओं जैसे बाहरी कारकों से प्रभावित हो सकती है। मार्जिन पर ट्रेडिंग से वित्तीय जोखिम में वृद्धि होती है।
वित्तीय उपकरण या क्रिप्टो करेंसी में ट्रेड करने का निर्णय लेने से पहले आपको वित्तीय बाज़ारों में ट्रेडिंग से जुड़े जोखिमों एवं खर्चों की पूरी जानकारी होनी चाहिए, आपको अपने निवेश लक्ष्यों, अनुभव के स्तर एवं जोखिम के परिमाण पर सावधानी से विचार करना चाहिए, एवं जहां आवश्यकता हो वहाँ पेशेवर सलाह लेनी चाहिए।
फ्यूज़न मीडिया आपको याद दिलाना चाहता है कि इस वेबसाइट में मौजूद डेटा पूर्ण रूप से रियल टाइम एवं सटीक नहीं है। वेबसाइट पर मौजूद डेटा और मूल्य पूर्ण रूप से किसी बाज़ार या एक्सचेंज द्वारा नहीं दिए गए हैं, बल्कि बाज़ार निर्माताओं द्वारा भी दिए गए हो सकते हैं, एवं अतः कीमतों का सटीक ना होना एवं किसी भी बाज़ार में असल कीमत से भिन्न होने का अर्थ है कि कीमतें परिचायक हैं एवं ट्रेडिंग उद्देश्यों के लिए उपयुक्त नहीं है। फ्यूज़न मीडिया एवं इस वेबसाइट में दिए गए डेटा का कोई भी प्रदाता आपकी ट्रेडिंग के फलस्वरूप हुए नुकसान या हानि, अथवा इस वेबसाइट में दी गयी जानकारी पर आपके विश्वास के लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं होगा।
फ्यूज़न मीडिया एवं/या डेटा प्रदाता की स्पष्ट पूर्व लिखित अनुमति के बिना इस वेबसाइट में मौजूद डेटा का प्रयोग, संचय, पुनरुत्पादन, प्रदर्शन, संशोधन, प्रेषण या वितरण करना निषिद्ध है। सभी बौद्धिक संपत्ति अधिकार प्रदाताओं एवं/या इस वेबसाइट में मौजूद डेटा प्रदान करने वाले एक्सचेंज द्वारा आरक्षित हैं।
फ्यूज़न मीडिया को विज्ञापनों या विज्ञापनदाताओं के साथ हुई आपकी बातचीत के आधार पर वेबसाइट पर आने वाले विज्ञापनों के लिए मुआवज़ा दिया जा सकता है।
इस समझौते का अंग्रेजी संस्करण मुख्य संस्करण है, जो अंग्रेजी संस्करण और हिंदी संस्करण के बीच विसंगति होने पर प्रभावी होता है।
© 2007-2024 - फ्यूजन मीडिया लिमिटेड सर्वाधिकार सुरक्षित