🔥 InvestingPro की ओर से प्रीमियम एआई-संचालित स्टॉक चयन अब 50% तक की छूटसेल को क्लेम करें

तुवर में तेजी रोकने के लिए सरकार का जोरदार गंभीर प्रयास जारी

प्रकाशित 10/06/2023, 10:47 am
अपडेटेड 10/06/2023, 11:15 am
तुवर में तेजी रोकने के लिए सरकार का जोरदार गंभीर प्रयास जारी

iGrain India - नई दिल्ली । खरीफ सीजन की सबसे प्रमुख दलहन फसल-अरहर (तुवर) की कीमतों में अक्सर चढ़ाव-उतार बना रहता है जिसका असर अन्य दलहनों के दाम पर भी पड़ता है। हालांकि भारत दुनिया में दलहनों का सबसे बड़ा उत्पादक देश है लेकिन फिर भी विशाल घरेलू मांग एवं बढ़ती जरूरत को पूरा करने के लिए इसे विदेशों से भारी मात्रा में इसका आयात करना पड़ता है। देश में मुख्य रूप से तुवर, मसूर एवं उड़द का आयात किया जाता है। तुवर की खेती खरीफ सीजन में, मसूर की रबी सीजन में तथा उड़द की खेती दोनों सीजन में होती है। 

समझा जाता है कि कुछ विशेष कारणों से पिछले कुछ महीनों से तुवर के घरेलू बाजार भाव में तेजी मजबूती का माहौल बना हुआ है।

सरकार को संदेह है कि उत्पादकों के साथ-साथ कुछ स्टॉकिस्ट भी तुवर का स्टॉक रोके हुए हैं और आयातकों का एक समूह ऐसा है जो निर्यातक देशों में अनुबंध करने के बावजूद तुवर की खेप को भारत में नहीं ला रहे हैं ताकि यहां कृत्रिम अभाव उत्पन्न हो, कीमतों में तेजी आए और फिर उन्हें ऊंचे दाम पर अपना माल बेचकर मोटे मुनाफा कमाने का अवसर मिल जाए। इसके अलावा तुवर के दाम में तेजी के कुछ अन्य कारण भी हैं जिसका पता लगाकर सरकार उसे दुरुस्त करने का प्रयास कर रही है। 

सरकार ने हाल ही में एक सूचना जारी करके दलहनों (तुवर, उड़द एवं मसूर) की खरीद पर लगी उच्चतम मात्रात्मक सीमा को समाप्त करने की घोषणा की है। इसके साथ-साथ इन दलहनों (तुवर-उड़द) पर स्टॉक सीमा को सख्ती से लागू किया गया है और 2023-24 के खरीफ मार्केटिंग सीजन हेतु तुवर के न्यूनतम सर्मथन मूल्य में 400 रुपए प्रति क्विंटल तथा उड़द के समर्थन मूल्य में 350 रुपए प्रति क्विंटल का इजाफा किया गया है ताकि किसानों को इसका उत्पादन बढ़ाने का समुचित प्रोत्साहन मिल सके। सरकारी प्रयासों के कारण तुवर-उड़द के दाम में जोरदार तेजी आने पर तो ब्रेक लगा गया है मगर इसमें नरमी का माहौल नहीं बन पाया है।

म्यांमार से तुवर-उड़द का आयात हो रहा  है मगर इसकी मात्रा सीमित है। उधर अफ्रीकी देशों में निर्यात योग्य तुवर का नगण्य स्टॉक बचा है और आपूर्ति का ऑफ सीजन चल रहा है। अगस्त-सितम्बर में जब वहां नई फसल आएगी तब भारत में इसका आयात तेजी से बढ़ेगा और फिर कीमतों पर दबाव पड़ना शुरू हो जाएगा।

नवीनतम टिप्पणियाँ

हमारा ऐप इंस्टॉल करें
जोखिम प्रकटीकरण: वित्तीय उपकरण एवं/या क्रिप्टो करेंसी में ट्रेडिंग में आपके निवेश की राशि के कुछ, या सभी को खोने का जोखिम शामिल है, और सभी निवेशकों के लिए उपयुक्त नहीं हो सकता है। क्रिप्टो करेंसी की कीमत काफी अस्थिर होती है एवं वित्तीय, नियामक या राजनैतिक घटनाओं जैसे बाहरी कारकों से प्रभावित हो सकती है। मार्जिन पर ट्रेडिंग से वित्तीय जोखिम में वृद्धि होती है।
वित्तीय उपकरण या क्रिप्टो करेंसी में ट्रेड करने का निर्णय लेने से पहले आपको वित्तीय बाज़ारों में ट्रेडिंग से जुड़े जोखिमों एवं खर्चों की पूरी जानकारी होनी चाहिए, आपको अपने निवेश लक्ष्यों, अनुभव के स्तर एवं जोखिम के परिमाण पर सावधानी से विचार करना चाहिए, एवं जहां आवश्यकता हो वहाँ पेशेवर सलाह लेनी चाहिए।
फ्यूज़न मीडिया आपको याद दिलाना चाहता है कि इस वेबसाइट में मौजूद डेटा पूर्ण रूप से रियल टाइम एवं सटीक नहीं है। वेबसाइट पर मौजूद डेटा और मूल्य पूर्ण रूप से किसी बाज़ार या एक्सचेंज द्वारा नहीं दिए गए हैं, बल्कि बाज़ार निर्माताओं द्वारा भी दिए गए हो सकते हैं, एवं अतः कीमतों का सटीक ना होना एवं किसी भी बाज़ार में असल कीमत से भिन्न होने का अर्थ है कि कीमतें परिचायक हैं एवं ट्रेडिंग उद्देश्यों के लिए उपयुक्त नहीं है। फ्यूज़न मीडिया एवं इस वेबसाइट में दिए गए डेटा का कोई भी प्रदाता आपकी ट्रेडिंग के फलस्वरूप हुए नुकसान या हानि, अथवा इस वेबसाइट में दी गयी जानकारी पर आपके विश्वास के लिए किसी भी प्रकार से उत्तरदायी नहीं होगा।
फ्यूज़न मीडिया एवं/या डेटा प्रदाता की स्पष्ट पूर्व लिखित अनुमति के बिना इस वेबसाइट में मौजूद डेटा का प्रयोग, संचय, पुनरुत्पादन, प्रदर्शन, संशोधन, प्रेषण या वितरण करना निषिद्ध है। सभी बौद्धिक संपत्ति अधिकार प्रदाताओं एवं/या इस वेबसाइट में मौजूद डेटा प्रदान करने वाले एक्सचेंज द्वारा आरक्षित हैं।
फ्यूज़न मीडिया को विज्ञापनों या विज्ञापनदाताओं के साथ हुई आपकी बातचीत के आधार पर वेबसाइट पर आने वाले विज्ञापनों के लिए मुआवज़ा दिया जा सकता है।
इस समझौते का अंग्रेजी संस्करण मुख्य संस्करण है, जो अंग्रेजी संस्करण और हिंदी संस्करण के बीच विसंगति होने पर प्रभावी होता है।
© 2007-2024 - फ्यूजन मीडिया लिमिटेड सर्वाधिकार सुरक्षित